LIVE KHABAR

मणिपुर हिंसा मामले में CBI ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया, गुवाहाटी की कोर्ट में किया जाएगा पेश । CBI ARRESTS FOUR ACCUSED IN MANIPUR VIOLENCE Case

[ad_1]

MANIPUR VIOLENCE Case- India TV Hindi

Image Source : FILE
सीएम बीरेन सिंह

इंफाल: मणिपुर हिंसा मामले में सीबीआई को बड़ी सफलता हासिल हुई है। सीबीआई ने रविवार को 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। ये गिरफ्तारी मणिपुर में 2 स्टूडेंट्स की हत्या मामले में की गई है। आरोपियों को गुवाहाटी में सक्षम कोर्ट (सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार नामित) में पेश किया जाएगा। 

आरोपियों की पहचान हुई

आरोपियों की पहचान पाओमिनलुन हाओकिप, मालस्वान हाओकिप, ल्हिंगनेइचोंग बैतेकुकी और तिन्नीलहिंग हेनथांग के रूप में हुई है। 

सीएम का बयान आया सामने

इस मामले पर सीएम बीरेन सिंह का बयान भी सामने आया है। उन्होंने कहा कि मणिपुर के एक किशोर छात्र और एक छात्रा के अपहरण और हत्या के सिलसिले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। इस घटना के कारण पिछले सप्ताह मणिपुर में हिंसक विरोध प्रदर्शन हुआ था। सिंह ने कहा कि सरकार मामले में दोषियों के लिए मौत की सजा समेत अधिकतम सजा सुनिश्चित करेगी। 

उन्होंने कहा कि मुख्य आरोपी की पत्नी सहित चारों को एक विशेष उड़ान से राज्य के बाहर ले जाया गया है। मुख्यमंत्री सचिवालय के अधिकारियों ने कहा कि मामले के सिलसिले में 11 और नौ साल की दो लड़कियों को हिरासत में लिया गया था, लेकिन बाद में उन्हें छोड़ दिया गया। दोनों मुख्य आरोपी की बेटियां हैं। 

सिंह ने प्रेसवार्ता में कहा, ‘दो युवकों की हत्या के आरोप में सीबीआई ने चूराचांदपुर जिले के हेंगलेप इलाके से चार लोगों को गिरफ्तार किया है। उन्हें विशेष विमान के जरिये राज्य से बाहर ले जाया गया है।’ हालांकि, उन्होंने उस स्थान के बारे में जानकारी साझा नहीं की, जहां आरोपियों को ले जाया गया है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए चलाए गए अभियान के दौरान सेना, बीएसएफ, सीआरपीएफ जैसे अर्धसैनिक बलों और राज्य पुलिस के जवानों ने प्रमुख भूमिका निभाई। सीबीआई के विशेष निदेशक अजय भटनागर के नेतृत्व में सीबीआई अधिकारियों की एक टीम ने 27 सितंबर को मणिपुर पहुंचकर मामले की जांच शुरू की थी।

क्या है पूरा मामला

एक युवक और एक युवती छह जुलाई को लापता हो गए थे। उनके शवों की तस्वीरें 25 सितंबर को सामने आईं। इसके बाद, 26 और 27 सितंबर को छात्रों के हिंसक विरोध प्रदर्शन ने राज्य की राजधानी को हिलाकर रख दिया। भीड़ ने 28 सितंबर की रात को मुख्यमंत्री के पैतृक घर पर हमला करने की कोशिश की थी, जिसे सुरक्षा बलों ने नाकाम कर दिया था। (इनपुट: भाषा से भी) 

ये भी पढ़ें: 

PM मोदी के साथ झाड़ू लगाने वाले अंकित बैयनपुरिया कौन हैं; 75 हार्ड चैलेंज क्या हैं?

सांप बहरा होता है तो फिर बीन की आवाज से नाचता कैसे है?

 

 

 

Latest India News

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *