LIVE KHABAR

इजरायल से अपने नागरिकों को वापस लाएगा भारत, शुरू किया गया ‘ऑपरेशन अजय’ । foreign minister s jaishankar launched Operation Ajay to take back indian citizens from Israel

[ad_1]

ऑपरेशन अजय- India TV Hindi

Image Source : PTI
ऑपरेशन अजय

इजरायल और हमास के बीच भयानक जंग के बीच हजारों भारतीय भी फंसे हुए हैं। अब इन नागरिकों को राहत देने के लिए भारत सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बताया है कि भारत सरकार अपने नागरिकों को वापस लाने के लिए ऑपरेशन अजय को लॉन्च कर रही है। बता दें कि ये मिशन उन लोगों के लिए होगा जो इजरायल से वापस आने के इच्छुक हैं। 

नागरिकों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध


इजरायल और हमास के बीच भारी हिंसा जारी है। हमास की ओर आतंकी हमले के बाद भी लगातार इजरायल की ओर रॉकेट लॉन्च किए जा रहे हैं। ऐसे में भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इजरायल में फंसे नागरिकों को संदेश जारी किया है। जयशंकर ने कहा है कि भारत सरकार विदेशों में अपने नागरिकों की सुरक्षा और भलाई के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है। उनके लिए विशेष चार्टर उड़ानों समेत अन्य व्यवस्थाएं की जा रही हैं।

इजरायल में कितने भारतीय?

मुंबई में इजरायल के महावाणिज्य दूत कोबी शोशानी ने बुधवार को जानकारी दी थी कि इजरायल में करीब 20 हजार भारतीय नागरिक हैं। उन्होंने बताया था कि विमानों का संचालन बंद है लेकिन विदेश मंत्रालय की ओर से इजरायल में फंसे भारतीय लोगों को वापस लाने के लिए काम किया जा रहा है। कोबी शोशानी ने बताया कि उन्हें इजरायली सेना और हमास के बीच चल रही जंग में किसी भी भारतीय के हताहत होने की जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि किसी भारतीय के घायल होने की भी कोई खबर नहीं मिली है।

 

जंग में अब तक लगभग 2200 लोगों की मौत

इजरायल ने गाजा पर शासन करने वाले आतंकी संगठन हमास के खिलाफ एक अभूतपूर्व हमले का संकल्प लिया है, क्योंकि उसके लड़ाकों ने 7 अक्टूबर को सीमा बाड़बंदी तोड़कर देश के दक्षिण में घुसकर भीषण हमले किए थे। इजरायल की सेना ने कहा है कि इजरायल में 155 सैनिकों सहित 1200 से ज्यादा लोग मारे गए हैं, जबकि गाजा में अधिकारियों के अनुसार, 260 बच्चों और 230 महिलाओं सहित 950 लोग मारे गए हैं। गाजा में इजरायल ने जबरदस्त बमबारी की है और शहर के कई इलाके मलबे के ढेर में तब्दील हो चुके हैं।

 

Latest India News

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *