Business

IPO लाने की तैयारी में है ये कंपनी, सेबी के पास जमा कराए डॉक्यूमेंट्स, जानें कितनी रकम जुटाने की है तैयारी

[ad_1]

इक्विटी शेयरों को बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध करने का प्रस्ताव है।- India TV Paisa
Photo:FILE इक्विटी शेयरों को बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध करने का प्रस्ताव है।

लुधियाना स्थित इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी सीगल इंडिया लिमिटेड भी आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) लाने की तैयारी में है। कंपनी ने पूंजी बाजार नियामक सेबी के साथ प्रारंभिक कागजात दाखिल किए हैं। सीगल इंडिया ने इस आईपीओ के जरिये 618 करोड़ रुपये जुटाने पर नजर है। पीटीआई की खबर के मुताबिक,दायर ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस के मुताबिक, कंपनी का आईपीओ 617.69 करोड़ रुपये के ताजा इश्यू और प्रमोटरों और एक व्यक्तिगत बिक्री शेयरधारक द्वारा 1.43 करोड़ इक्विटी शेयरों की बिक्री की पेशकश (ओएफएस) का एक संयोजन है।

अपनी हिस्सेदारी बेच रहे ये प्रमोटर

खबर के मुताबिक, प्रमोटर और प्रमोटर समूह इकाइयां – रमणीक सहगल, रमणीक सहगल एंड संस एचयूएफ, अवनीत लूथरा, मोहिंदर पाल सिंह सहगल, परमजीत सहगल, सिमरन सहगल – और व्यक्तिगत शेयरधारक कंवलदीप सिंह लूथरा प्रस्तावित सार्वजनिक निर्गम में अपनी हिस्सेदारी बेच रहे हैं। प्रस्ताव में पात्र कर्मचारियों द्वारा सदस्यता के लिए रिजर्वेशन शामिल है। कंपनी प्री-आईपीओ प्लेसमेंट राउंड में 123.50 करोड़ रुपये जुटाने पर विचार कर सकती है। यदि ऐसा प्लेसमेंट पूरा हो जाता है, तो नए इश्यू का आकार कम हो जाएगा।

कहां होगा जुटाई राशि का इस्तेमाल

नए इश्यू से हासिल 118.78 करोड़ रुपये की आय का उपयोग उपकरणों की खरीद के लिए किया जाएगा, और 344.50 करोड़ रुपये का उपयोग ऋण के भुगतान के लिए किया जाएगा, इसके अलावा एक हिस्से का उपयोग सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए किया जाएगा। साल 2002 में स्थापित, सीगल इंडिया एक बुनियादी ढांचा निर्माण कंपनी है, जिसके पास एलिवेटेड रोड, फ्लाईओवर, पुल, रेलवे ओवर ब्रिज, सुरंग, राजमार्ग, एक्सप्रेसवे और रनवे जैसे विशेष संरचनात्मक काम करने का अनुभव है। आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज लिमिटेड, आईआईएफएल सिक्योरिटीज लिमिटेड और जेएम फाइनेंशियल लिमिटेड आईपीओ के लिए बुक-रनिंग लीड मैनेजर हैं। इक्विटी शेयरों को बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध करने का प्रस्ताव है।

कंपनी की वित्तीय प्रदर्शन

जनवरी 2024 तक, कंपनी की ऑर्डर बुक 9,206.42 करोड़ रुपये थी, जिसमें एनएचएआई ने ऑर्डर बुक में 82 प्रतिशत का योगदान दिया था। इसके ग्राहकों में इंडियन रेलवे कंस्ट्रक्शन इंटरनेशनल लिमिटेड, मिलिट्री इंजीनियर सर्विसेज और बिहार स्टेट रोड डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड जैसी सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियां शामिल हैं। वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए, परिचालन से कंपनी का राजस्व वित्तीय वर्ष 2021-22 में 1,133.79 करोड़ रुपए से 82 प्रतिशत बढ़कर 2,068.17 करोड़ रुपए हो गया और कर पश्चात लाभ वित्तीय वर्ष 2022 में 125.86 करोड़ रुपए से बढ़कर वित्तीय वर्ष 2023 में 167.27 करोड़ रुपए हो गया।

Latest Business News

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *