World News

अडियाला जेल में बंद इमरान खान की बढ़ी फजीहत, दो सप्ताह तक लोगों से मुलाकात पर लगी रोक

[ad_1]

इमरान खान - India TV Hindi

Image Source : FILE
इमरान खान

Imran Khan News: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री और तहरीक ए इंसाफ पार्टी के सुप्रीमो इमरान खान की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। वे काफी समय से जेल में बंद हैं। यही नहीं, हालिया चुनाव में उन्हें चुनाव चिह्न नहीं मिला, तो उनकी पार्टी के समर्थकों ने निर्दलीय चुनाव लड़ा। किसी पार्टी को बहुमत नहीं मिला, पर इमरान समर्थक ही सबसे अधिक संख्या में जीते। इसके बावजूद इमरान को चुनाव से कोई फायदा नहीं हुआ। जेल में बंद इमरान खान की नई मुश्किल यह है कि जिस अडियाला जेल में वे बंद हैं, वहां दो सप्ताह तक लोगों से नहीं मिल सकेंगे।

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को रावलपिंडी की अडियाला जेल में दो सप्ताह तक लोगों से मुलाकात करने से रोक दिया गया है। इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) ने सरकार के फैसले को फासीवादी करार दिया। साथ ही इस फैसले पर सख्त एतराज जताया है। पार्टी ने कहा कि यह सरकार द्वारा इमरान की आवाज को दबाने की एक और कोशिश है। 

इमरान की जान खतरे में: पीटीआई

पार्टी ने यह भी दावा किया कि खान का जीवन खतरे में है। विभिन्न मामलों में जेल की सजा काट रहे खान (71) को सितंबर 2023 में अटक जेल से अडियाला जेल लाया गया था और कैद के दौरान वह लगातार अपने वकीलों, पार्टी नेताओं और परिवार के सदस्यों से मुलाकात कर रहे थे। इसके बाद यह घटनाक्रम हुआ है। इससे पहले, अधिकारियों ने पाकिस्तान पीटीआई पार्टी के संस्थापक इमरान खान से लोगों के मुलाकात करने के लिए सोमवार और गुरुवार का दिन नियत किया था।

खतरे के अलर्ट का दिया हवाला

पंजाब गृह विभाग की अधिसूचना के अनुसार खुफिया एजेंसियों द्वारा साझा किए गए खतरे के अलर्ट के आधार पर यह फैसला किया गया है। इमरान खान को अडियाला जेल के अंदर दो सप्ताह तक परिवार के सदस्यों, वकीलों, पार्टी के नेताओं से मुलाकात करने से रोक दिया गया है। 

जरदारी के प्रेसिडेंट बनने पर भड़के थे इमरान

इससे पहले हाल ही में 14वें राष्ट्रपति चुने गए आसिफ अली जरदारी के पाकिस्तन के प्रेसिडेंट बनने पर इमरान खान भड़क गए थे। पाकिस्तान की जेल में बंद पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी ने पाकिस्तान के राष्ट्रपति पद के लिए  हुए चुनाव को ‘असंवैधानिक और अस्वीकार्य’ करार दिया था। साथ  लोगों से रविवार को चुनावी डकैती के खिलाफ देशभर में शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन करने का आग्रह किया था। इसके बाद फिर पाकिस्तान में रविवार को जगह-जगह प्रदर्शन भी हुए। लोग सड़कों पर उतरे। इमरान खान ने पीएम शहबाज शरीफ और राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी को भ्रष्ट करार दिया। साथ ही कहा था कि इन जैसे भ्रष्ट व्यक्तियों को देश स्वीकार नहीं करेगा।

Latest World News

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *